世界

ईद के मौके पर तालिबान ने किया संघर्ष विराम का ऐलान, अफगान सरकार ने किया स्वागत

अफगानिस्तान

तालिबान ने सरकारी इलाकों में न घुसने के भी निर्देश दिए हैं और कहा है कि संघर्ष विराम के इन तीन दिनों में वे लोग खुद भी तालिबान द्वारा नियंत्रित किए जा रहे इलाकों में किसी प्रकार की कोई घुसपैठ न करें.

नई दिल्ली: अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) ने तीन दिनों के लिए संघर्ष विराम (Ceasefire) की घोषणा की है. यह घोषणा उसने ईद-उल- फितर के मौके पर की है. संघर्ष विराम रविवार से शुरू होगा और तीन दिन तक जारी रहेगा. तालिबान का यह फैसला सकारात्मक कदम के तौर पर देखा जा रहा है क्योंकि अमेरिका के साथ अफगानी सेनाओं का एक समझौता हुआ था जिसके बाद से अफगान सरकार और तालिबाना के बीच खूनी संघर्ष तेज हो गया था.

एक महीने चले रमजान के बाद रविवार को दुनिया के कई हिस्सों में ईद मनाई गई. ईद के साथ ही रमजान का पवित्र माह समाप्त हुआ. 

अफगानिस्तान में भी रविवार को ईद मनाई गई. तालिबान की संघर्ष विराम की घोषणा का राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) ने स्वागत किया है हालांकि अफगानिस्तान में अमेरिकी दूतावास की ओर से इसे तालिबान की ‘क्षणिक अवसरवादिता’ के तौर पर देखा जा रहा है.

ये भी पढ़ें- बड़ा खुलासा! तालिबान का टॉप लीडर सिराजुद्दीन हक्कानी कोरोना पॉजिटिव

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने सोशल मीडिया पर डाले अपने स्टेटमेंट में कहा है कि तालिबान अपने सभी मुजाहिद्दीनों को देश के लोगों की सुरक्षा के लिए विशेष उपाय करने का निर्देश देता है. साथ ही, कहीं पर भी दुश्मन के खिलाफ कोई भी ‘ऑफेंसिव ऑपरेशन’ न करने की हिदायत देता है.

तालिबान ने सरकारी इलाकों में न घुसने के भी निर्देश दिए हैं और कहा है कि संघर्ष विराम के इन तीन दिनों में वे लोग खुद भी तालिबान द्वारा नियंत्रित किए जा रहे इलाकों में किसी प्रकार की कोई घुसपैठ न करें. अफगान के प्रेजिडेंट अफगान गनी ने ट्विटर पर इस कदम का तुरंत स्वागत किया और कहा- अफगान सरकार शांति का प्रस्ताव पेश करती है. मैं, कमांडर इन चीफ की हैसियत से ANDSF को तीन दिन का संघर्ष विराम का निर्देश देता हूं. साथ ही वे केवल हमला होने की स्थिति में ही खुद को डिफेंड करें.

Close