世界

कोरोना: इस देश में भयावह स्थिति, सप्ताह में चौथी बार 1 दिन में 1,000 से अधिक मौतें

नई दिल्‍ली : पूरी दुनिया में कोरोना से हालात खराब हैं लेकिन कुछ देशों में तो स्थिति भयावह हो चुकी है. ब्राज़ील में इस घातक कोरोना वायरस ने पिछले 24 घंटों में 1,039 लोगों की जान ले ली है. इससे भी गंभीर बात यह है कि ऐसा यहां पहली बार नहीं हुआ है बल्कि इस सप्ताह में ही यह चौथी बार है जब वायरस के कारण इस दक्षिण अमेरिकी देश में दैनिक मौत का आंकड़ा 1,000 को पार कर गया है.

जिसे राष्‍ट्रपति जायर बोल्सनारो द्वारा “थोड़ा फ्लू” कहा गया था अब वही ब्राजील वायरस का नया केंद्र बन गया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में मौत का आंकड़ा बढ़कर 24,512 हो गया है.

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, सही संख्या शायद इससे बहुत अधिक है, लेकिन अंडर-टेस्टिंग के कारण कई मामलों पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है. 

मामलों के संदर्भ में बात करें तो ब्राजील में 210 मिलियन यानी कि 21 करोड़ की आबादी में 3,91,222 संक्रमण दर्ज किए गए हैं.  बता दें कि कोरोना मामलों की संख्‍या में ब्राजील संयुक्त राज्य अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर है. 

जबकि देश ने आधिकारिक तौर पर दैनिक मौतों के मामले में संयुक्त राज्य को पीछे छोड़ दिया है. वहीं बोल्सनारो वायरस को अभी भी ‘औसत दर्जे की ठंड’ मान रहे हैं और अपने कार्यों के परिणाम को स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है.

यहां तक कि राष्ट्रपति बोल्सनारो देश में जिम और स्विमिंग पूल खोल रहे हैं.

बोल्‍सनारो ने 24 मई को एक एंटी-लॉकडाउन रैली आयोजित की, जिसे स्वयं ब्राजील सरकार ने प्रायोजित किया था.

इतना ही नहीं यह सब करने के लिए इस 65 वर्षीय नेता ने सोशल डिस्‍टेंसिंग के नियमों का ध्यान नहीं रखा और अपने समर्थकों को गले लगाया. इस तरह न केवल उन्‍होंने अपना जीवन खतरे में डाला, बल्कि अनगिनत दूसरों को भी खतरे में डाला. 

ये भी देखें-

Close