世界

शांति की उम्मीद में अफगान सरकार ने रिहा किए 900 तालिबान कैदी

अफगान

कोरोना संकट (Corona Virus) के बीच तालिबान (Taliban) द्वारा की गई संघर्ष विराम (Ceasefire) की घोषणा को ध्यान में रखते हुए अफगानिस्तान ने 900 तालिबानी कैदियों को रिहा कर दिया है.

काबुल: कोरोना संकट (Corona Virus) के बीच तालिबान (Taliban) द्वारा की गई संघर्ष विराम (Ceasefire) की घोषणा को ध्यान में रखते हुए अफगानिस्तान ने 900 तालिबानी कैदियों को रिहा कर दिया है. इन कैदियों को मंगलवार को विभिन्न जेलों से रिहा किया गया, जिसमें से 600 काबुल स्थित कुख्यात बगडाम (Bagram) जेल में बंद थे. तीन दिनों के संघर्ष विराम के अंतिम दिन इन कैदियों की रिहाई ने यह साफ कर दिया है कि अफगान सरकार शांति प्रक्रिया कायम रखना चाहती है.    

तालिबान के इस संघर्ष विराम को ऐतिहासिक कदम कहा जा सकता है. क्योंकि 19 वर्षों के अंतराल में यह दूसरा मौका है जब दोनों तरफ की बंदूकें थमी हुईं हैं. अधिकारियों ने बताया कि मंगलवार को देशभर में लगभग 900 तालिबान कैदियों को रिहा किया, जो कि सरकार द्वारा 2,000 विद्रोही कैदियों को मुक्त करने की घोषणा का हिस्सा है. अफगान सरकार ने तालिबान की तरफ से ईद-उल-फितर के मौके पर तीन दिवसीय युद्धविराम प्रस्ताव के जवाब में कैदियों की रिहाई का ऐलान किया था. 

सभी कैदियों को सरकार की तरफ से लगभग $65 प्रदान किये गए. जेलों से उन्हें लेकर बसें काबुल पहुंचीं, यहां से सभी अपने-अपने गंतव्य के लिए रवाना हो गए. तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन (Suhail Shaheen) ने सरकार के इस कदम पर खुशी जाहिर की है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘900 कैदियों की रिहाई अच्छी प्रगति है’. उन्होंने यह भी कहा है कि तालिबान अफगानी सुरक्षा बालों को जवानों को भी रिहा करेगा, लेकिन यह नहीं बताया कि कब. वहीं, राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता जावेद फैजल (Javid Faisa) ने कहा कि अफगान अधिकारियों को उम्मीद है कि तालिबान संघर्ष विराम का विस्तार करेगा, ताकि विद्रोहियों के साथ शांति वार्ता शुरू हो सके. 

Close